महिला सशक्तिकरण के लिए लड़ने वाला पुरुष पत्नी द्वारा प्रताड़ित किया जा रहा है

सुमित मजुमदार, कोलकाता:- बिहार राज्य के भागलपुर जिले की रहने वाली रवि समाजसेवी होने के साथ-साथ संयुक्त राष्ट्र की सतत विकास के 17 सूत्रीय लक्ष्य पर आधारित एशिया के कई देशों के अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन में महिला सशक्तिकरण , गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा, क्लाईमेट चेंज और पीस एंड जस्टिस के लिये युवा वक्ता के रूप में भारत का प्रतिनिधित्त्व कर चुके है , लेकिन आज वह उसी महिला से परेशान है जिसके लिए उसने लड़ाई लड़ी थी, वह अकेला रह गया है और अपनी पत्नी का सशक्त बनाने के लिए लाखों रुपये कर्ज युनिवर्सिटी ऑफ़ रीडिंग , यूके में दाख़िला कराया और आज कर्ज में डूबा हुआ है।ई रवि दुनिया कें 61वें टॉप विश्वविद्यालय यूनिवर्सिटी ऑफ़ ब्रिस्टल , इंग्लैंड में अर्थशास्त्र पर शोध कर रहे हैं और महिला सशक्तीकरण पर विभिन्न देशों में भारत की ओर से भारत का प्रतिनिधित्व भी कर चुके हैं।इसी दौरान उन्होंने सोशल मीडिया के जरिए पश्चिम बंगाल पुरुष अधिकार संगठन अभियान के संपादक गौरव रॉय संस्था से संपर्क किया वहां वह गौरव बाबू को एक वीडियो संदेश भेजता है कि वह उसके सभी कार्यों को जाने और समाज में व्यापक रूप से फैली शादी के नाम पर साजिस , पैसे का ठगी, प्यार के नाम पर लड़कों का ग़लत उपयोग, झूठे दहेज मामला ,498A जैसे क्रीमिनल FIR पैसे वसूलने के मामले को समाज और प्रशासन का ध्यान आकृष्ट करायें। उसकी स्थिति को समाज और उसके बाद गौरव बाबू ने उन्हें भरोसा दिलाया कि वे और उनकी संस्था ई रवि के साथ खड़े रहेंगे और जरूरत पड़ने पर कानून का सहयोग करने को तैयार हैं। इसके अलावा वे आने वाले दिनों में इस मामले को जगाने के लिए न्यूज मीडिया और समाज में रखनें का प्रयास करेंगे.

[ays_slider id=1]

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

उत्तर प्रदेश मे इस बार किसकी होगी सत्ता

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

[avatar]